म्यूचुअल फंड से कमाई (Mutual Fund Se Kamai) कैसे करें?

म्यूचुअल फंड से कमाई (Mutual Fund Se Kamai): म्यूचुअल फंड निवेश का एक बेस्ट तरीका है; जो लॉन्ग टर्म में अच्छा रिटर्न देता है; जानें म्यूचुअल फंड से कमाई (Mutual Fund Se Kamai) के आसान तरीके।

म्यूचुअल फंड से कमाई (Mutual Fund Se Kamai) कैसे करें?

यदि आप अपने बचत किए हुए पैसे को और ज्यादा बढ़ाना चाहते हैं; लेकिन आप इसके लिए बहुत ज्यादा जोखिम लेने के लिए तैयार नहीं हैं; तो आप अपने इस भाई का सुझाव मानिए; 

आप अपनी मेहनत की कमाई को म्यूचुअल फंड में निवेश करिए; अगर आप इसमें लंबे समय के लिए निवेश कर रहे हैं; तो आपके पैसे के डूबने का जोखिम बहुत कम है; पर अच्छा रिटर्न मिलने की संभावना बहुत ज्यादा है। 

आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना शुरू करें उससे पहले आपको म्यूचुअल फंड से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बातों को समझना बहुत जरूरी है; अगर आप नहीं समझते हैं; और आप निवेश कर देते हैं; 

तो आप जानबूझकर अपने जोखिम को बढ़ा रहे हैं; इसलिए मेरी मानिए आप निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड के बारे में सबकुछ अच्छे से समझ लीजिए। 

  • म्यूचुअल फंड क्या है?
  • म्यूचुअल फंड से पैसा कैसे बनता है?
  • म्यूचुअल फंड में निवेश करने से कमाई कितनी होगी?
  • म्यूचुअल फंड की शुरुआत कैसे करें?

म्यूचुअल फंड से कमाई (Mutual Fund Se Kamai) करने से पहले जान लें; म्यूचुअल फंड क्या है?

चलिए हम आपको बिल्कुल आसान भाषा में समझाते हैं कि म्यूचुअल फंड क्या होता है; और कैसे काम करता है – म्यूचुअल फंड एक ऐसा फंड है; जिसमें कई निवेश मिलकर एक साथ कई कंपनियों और उद्योगों में पैसा निवेश करते हैं; 

आप याद रखें; म्यूचुअल फंड का मैनेजमेंट आपके हाँथ में नहीं होता है; इसे कोई एक्सपर्ट फंड मैनेजर मैनेज करता है; वह आपके पैसे को सोच-समझकर अलग-अलग अच्छी कंपनियों के शेयरों, बॉन्डों और दूसरे एसेट्स में निवेश करता है।

आप डायरेक्ट शेयर में निवेश न करके; म्यूचुअल फंड के जरिए निवेश करिए; क्योंकि इससे आप म्यूचुअल फंड मैनेजर के अनुभव और योग्यता का फायदा उठाकर बिना अधिक जोखिम के मार्केट से अच्छा रिटर्न ले सकते हैं। 

म्यूचुअल फंड से पैसा कैसे कमाए?

जब आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं; तो आपके पैसे को बाकी निवेशकों के पैसों के साथ कंपनियों के शेयरों और बॉन्डों में निवेश कर दिया जाता है; और जब इस निवेश से प्रॉफिट होता है; तो आपके किए गए निवेश राशि के अनुसार आपको आपका प्रॉफिट दे दिया जाता है; 

आप याद रखिएगा; फंड में जिस निवेशक का पैसा ज्यादा लगा होता है; उसे ज्यादा रिटर्न मिलता है; और जिसका कम उसे कम प्रॉफिट मिलता है; चलिए जान लेते हैं – 

प्रॉफिट मिलने के दो मुख्य तरीके क्या हैं:

  1. कैपिटल एप्रिसिएशन: आप याद रखें; जब म्यूचुअल फंड से जुड़ी कंपनियों के स्टॉक्स या एसेट्स की कीमतें बढ़ती हैं; तो आपके द्वारा निवेश किए गए फंड की भी कीमत बढ़ती है; और आप इसी बढ़ोत्तरी के हिसाब से प्रॉफिट कमाते हैं।
  2. डिविडेंड: म्यूचुअल फंड से जुड़ी कुछ कंपनियां ऐसी होती हैं; जो अपने निवेशकों को समय-समय पर कंपनी को होने वाले प्रॉफिट का एक हिस्सा डिविडेंड के रूप में देती हैं; इस डिविडेंड को भी फंड में निवेश करने वाले सभी निवेशकों के बीच बांट दिया जाता है।

म्यूचुअल फंड में निवेश से कमाई कितनी होगी?

म्यूचुअल फंड में निवेश करने से कमाई कितनी होगी; यह कहना थोड़ा मुश्किल है; क्योंकि यह कई महत्वपूर्ण बातों पर डिपेंड करता है; 

जैसे – आप किस तरह के फंड में निवेश कर रहे हैं; कितने साल के लिए कर रहे हैं; मार्केट का परफॉर्मेंस और फंड मैनेजर का स्किल कैसा है; 

आप यह बात हमेशा याद रखिएगा कि जिस किसी ने भी म्यूचुअल फंड में लंबी अवधि के लिए निवेश किया है; उसे फंड ने अच्छा रिटर्न दिया है।

म्यूचुअल फंड की शुरुआत कैसे करें?

  • निवेश करने से पहले अपने फाइनेंशियल लक्ष्यों को निर्धारित करें: आपको निवेश करने से पहले यह तय करना होगा कि क्या आप रिटायरमेंट के लिए निवेश रहे हैं, बच्चों के एजुकेशन के लिए या फिर एक नया घर खरीदने के लिए? जब आप एक बार अपने लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं; तो इसके आधार पर आप निवेश अवधि और फंड का चुनाव करें।
  • आप अपने जोखिम लेने की क्षमता को पहचानें: आपको यह समझना होगा कि निवेश करने के लिए आप कितना जोखिम लेने को तैयार हैं? आप याद रखें; इक्विटी फंड में निवेश करना मतलब ज्यादा जोखिम उठाना पड़ सकता है; लेकिन इसमें लंबी अवधि में ज्यादा रिटर्न मिलने की संभावना रहती है; जबकि वहीं डेट फंड में निवेश करने पर कम जोखिम लेना पड़ता है; और रिटर्न भी कम मिलता है।
  • निवेश करते समय सही फंड का चुनाव करें: शेयर मार्केट में आपको कई तरह के म्यूचुअल फंड में निवेश करने की सहूलियत मिलती है; आप अपने फाइनेंशियल लक्ष्यों और जोखिम लेने की सहनशीलता के आधार पर फंड का चुनाव करें; अगर आपको निवेश को लेकर किसी भी तरह का कोई अड़चन है; तो‌ आप किसी भी अनुभवी फाइनेंशियल एडवाइजर की मदद ले सकते हैं।
  • SIP के माध्यम से निवेश शुरू करें: आप SIP (सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान) के माध्यम से म्यूचुअल फंड में हर महीने अपनी मर्जी के हिसाब से एक निश्चित राशि निवेश करें; इससे आपको निवेश करने में आसानी भी होगी; और मार्केट में होने वाले उतार-चढ़ाव से भी बचे रहेंगे।

रिटर्न मिलने तक धैर्य रखें: आप याद रखें; शेयर मार्केट में उतार-चढ़ाव होना आम बात है; इसलिए आप बिना सोचे-समझें, डर कर या घबराकर अपने किए गए निवेश से बाहर न निकलें; यह सच है; जो धैर्य के साथ लंबी अवधि तक अपने निवेश पर टिका है; वही म्यूचुअल फंड से अच्छा रिटर्न बनाने में सफल हैं।

क्या म्यूचुअल फंड पूरी तरह से सुरक्षित हैं?

नहीं, आप याद रखिएगा; शेयर मार्केट में कोई भी निवेश पूरी तरह से 100% सुरक्षित होने की गारंटी नहीं देता है; लेकिन म्यूचुअल फंड में लंबी अवधि के लिए किया गया निवेश आपको 90% रिटर्न की गारंटी देता है।

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए कितना पैसा चाहिए?

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपको बहुत ज्यादा पैसों की जरूरत नहीं पड़ती है; आप अपनी सुविधा के अनुसार SIP (सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान) के माध्यम से हर महीने 500 रुपये से भी म्यूचुअल फंड में निवेश शुरू कर सकते हैं!

म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले क्या करना चाहिए?

म्यूचुअल फंड में निवेश से पहले आपको अपने फाइनेंशियल लक्ष्य तय करने होंगे; जोखिम लेने की सहनशीलता को अच्छे से समझना होगा; और एक अच्छे म्यूचुअल फंड स्कीम का चुनाव करना होगा; इसके लिए आप खुद रिसर्च कर सकते हैं या आप किसी अनुभवी फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह ले सकते हैं।

Leave a Comment